UP 100 Emergency Service

UP 100 Emergency Service

उत्तर प्रदेश के मुख्मंत्री श्री अखिलेश यादव की सबसे महत्वाकांक्षी योजना का शुभ- आरंभ 2016 ओक्टुबर में हुआ, इस योजना को मुख्मंत्री श्री अखिलेश यादव का ड्रीम योजना माना जा रहा था. इस सरकारी योजना को अमेरिका की 911 के तत्कालीन सेवा से प्रेरित हो कर बनाया है , इसका मुख उद्देश किसी भी इमरजेंसी सहायता प्रदान करना.इस योजना को दुनिया की सबसे बड़ी इमरजेंसी सहायता के रूप में देखा जा रहा है.आपात स्थिति के दौरान पुलिस सहायता की मांग नागरिक द्वारा टोल फ्री आपातकालीन नंबर ‘100’ डायल करके राज्य के किसी भी हिस्से से एक मोबाइल फोन या एक लैंडलाइन से शिकायत या दर्ज कर सकते हैं.
इस परियोजना के तहत आपातकालीन स्थिति के मामले में, कोई भी व्यक्ति डायल 100 कॉल सेंटर पर टेलीफोन, एसएमएस या किसी अन्य संचार पद्धति के माध्यम से संवाद कर सकते हैं और उन्हें बदले में तत्काल राहत और सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत 4800 वाहनों का उपयोग किया जायेगा, जिसमे 3200 चार पहिया वाहन और 1600 दुपहिया वाहन होगा जो राज्य के 75 जिलों में सक्रिय रहेगी। इन सभी वाहनों को जीपीएस और अन्य आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा।

UP 100 Emergency Service

100 आपातकालीन सेवा -विशेषताएं

इस योजना के पहले चरण में 11 जिलों में शुरू कर दिया है।

एफआईआर (प्रथम सूचना रिपोर्ट) इस योजना के तहत मौके पर पंजीकृत किया जाएगा।

यूपी-100 सर्विस को अमेरिका की 911 सेवा के रूप में काम करेंगे।

यह आपकी सेवा में 24*7 रहेगी.

इस सेवा का निशुल्क नंबर 100 है.

महिला पुलिसकर्मी भी इस परियोजना का हिस्सा है.

डायल 100 के तहत प्रतिक्रिया समय शहरी क्षेत्रों में दो-पहिया वाहन के लिए दस मिनट और चार पहिया वाहनों के लिए 15 मिनट के रूप में निर्धारित किया गया है.

ग्रामीण क्षेत्रों में चार पहिया वाहन के लिए प्रतिक्रिया समय 20 मिनट के रूप में अनिवार्य कर दिया गया है।

Read Here

Samajwadi Shadi Anudan Yojana 2016

Aashish Srivastava

Aashish Srivastava is passionate about writing and is the editor-in-chief of various websites. A nerd and sentimental pulse, he enjoys music and travelling. A big fan of Sachin Tendulkar . He is a great listener who loves observing people.